ठहराव जिंदगी में दुबारा नहीं मिला

गज़लः २९
ठहराव जिंदगी में दुबारा नहीं मिला
जिसकी तलाश थी वो किनारा नहीं मिला.

वर्ना उतारते न समंदर में कश्तियां
तूफान आया जब भी इशारा नहीं मिला.

हम ने तो खुद को आप संभाला है आज तक
अच्छा हुआ किसी का सहारा नहीं मिला.

बदनामियां घरों में दबे पांव आ ईं
शोहरत को घर कभी भी, हमारा नहीं मिला.

खुशबू, हवा और धूप की परछाइयां मिलीं
रौशन करे जो शाम, सितारा नहीं मिला.

खामोशियां भी दर्द से ‘देवी’ पुकारतीं
हम-सा कोई नसीब का मारा नहीं मिला.

चराग़े-दिल/ ५५

Advertisements

5 टिप्पणियाँ

  1. mehhekk said,

    दिसम्बर 25, 2007 at 5:10 पूर्वाह्न

    wah खुशबू, हवा और धूप की परछाइयां मिलीं
    रौशन करे जो शाम, सितारा नहीं मिला.
    behad sahi mayne hai es sher ke..nazm ke liye tariff karne ke liye lafz hi nahi koi.lajawab.

  2. paramjitbali said,

    दिसम्बर 25, 2007 at 7:29 पूर्वाह्न

    बहुत बढिया!!!

  3. neeraj said,

    दिसम्बर 25, 2007 at 1:10 अपराह्न

    दीदी
    हम ने तो खुद को आप संभाला है आज तक
    अच्छा हुआ किसी का सहारा नहीं मिला.

    बदनामियां घरों में दबे पांव आ ईं
    शोहरत को घर कभी भी, हमारा नहीं मिला

    कितनी सादा जबान में आप इतनी गहरी बात कर जाती हैं की बरबस मुह से वाह वा निकलती है…लफ्जों और एहसास का इतना खूबसूरती से इस्तेमाल करती हैं की देखते ही बनता है. बहुत …बहुत….बहुत….बहुत…बढ़िया रचना.
    नीरज

  4. दिसम्बर 25, 2007 at 1:42 अपराह्न

    bahut badiya ghazal…. najar hat hi nhi rhi….
    sach main bahut badiya ghazal ….. dil main utar gya har sher
    Sadar
    hemjyotsana

  5. दिसम्बर 26, 2007 at 4:03 अपराह्न

    सभी सद्सयों को मेरी नये सााल की शुभकामनाएं
    ठहराव की तलाश में भटक भी कहाँ रहे हैजीवन की सइरा में. कितने निस्हाय है हम, आप और जाने कौन कौन.चंद बातें अच्छी लगी७सके लिये धन्यवाद
    देवी


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

  • Blog Stats

  • मेटा

  • %d bloggers like this: